9 विभाग गहलोत ने अपने पास रखे, पायलट को ग्रामीण विकास, किसे क्या मिला, सूची देखें - Badhata Rajasthan - नई सोच नई रफ़्तार

Breaking

Thursday, 27 December 2018

9 विभाग गहलोत ने अपने पास रखे, पायलट को ग्रामीण विकास, किसे क्या मिला, सूची देखें

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ घंटों बातचीत के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंत्रियों के विभागों का बंटवारा कर दिया है। अब सीएम गहलोत ने गृह, वित्त सहित 9 मंत्रालय अपने पास रखे हैं। वहीं उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के पास ग्रामीण विकास, पंचायती राज सहित पांच मंत्रालय हैं। बात दें कि मंत्रियों के विभाग के बंटवारे को लेकर दो दिनों से रस्साकशी चल रही थी। जिसका हल निकालने के लिए गहलोट और पायलट बुधवार शाम को कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के पास पहुंचे थे।

राजस्थान के मंत्रियों कि पूरी सूची

अशोक गहलोतवित्त विभाग
 आबकारी विभाग
 आयोजना विभाग
 नीति आयोजना विभाग
 कार्मिक विभाग
 सामान्य प्रशासन विभाग
 राजस्थान राज्य अन्वेषण ब्यूरो
 सूचना प्रौद्यौगिकी एवं संचार विभाग
 गृह मामलात एवं न्याय विभाग
सचिन पायलटसार्वजानिक निर्माण विभाग
 ग्रामीण विकास विभाग
 पंचायती राज विभाग
 विज्ञानं एवं प्रौद्यौगिकी विभाग
 सांख्यिकी विभाग
बुलाकी दास कल्लाऊर्जा विभाग
 जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग
 भू-जल विभाग
 कला, साहित्य, सांस्कृतिक और पुरातत्व विभाग
शांति कुमार धारीवालस्वायत्त शासन , नगरीय विकास और आवासन विभाग
 विधि एवं विधिक कार्य विभाग और विधि परामर्शी विभाग
 संसदीय मामलात विभाग
परसादीलाल मीणाउद्योग विभाग
 राजकीय उपक्रम विभाग
मास्टर भंवरलाल मेघवालसामाजिक न्याय एवं अधिकारिता
 आपदा प्रबंधन एवं सहायता विभाग
लालचंद कटारियाकृषि विभाग
 पशुपालन विभाग
 मत्स्य विभाग
डॉ. रघु शर्माचिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग
 आयुर्वेद एवं भारतीत चिकित्सा विभाग
 चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग (ईएसआईसी)
 सूचना एवं जनसंपर्क
प्रमोद जैनभायाखान विभाग
 गौपालन विभाग
विश्वेन्द्र सिंहपर्यटन विभाग
 देवस्थान विभाग
डॉ. हरीश चौधरीराजस्व विभाग
 उपनिवेशन विभाग
 कृषि सिंचित क्षेत्रीय विकास एवं जल उपयोगिता विभाग
रमेश चंद्र मीणाखाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग
 उपभोक्ता मामले विभाग
उदयलाल आंजनासहकारिता विभाग
 इंदिरा गांधी नहर परियोजना विभाग
प्रताप सिंह खाचरियावासपरिवहन विभाग
 सैनिक कल्याण विभाग
सालेह मोहम्मदअल्पसंख्यक मामलात विभाग
 वक्फ विभाग
 जन अभियोग निराकरण विभाग
  
राज्यमंत्री
गोविंदसिंह डोटासराशिक्षा विभाग (प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षा) (स्वतंत्र प्रभार)
 पर्यटन विभाग
 देवस्थान विभाग
ममता भूपेशमहिला एवं बाल विकास विभाग (स्वतंत्र प्रभार)
 जन अभियोग निराकरण विभाग
 अल्पसंख्यक मामलात विभाग
 वक्फ विभाग
अर्जुन सिंह बामनियाजनजातीय क्षेत्रीय विकास विभाग (स्वतंत्र प्रभार)
 उद्योग विभाग
 राजकीय उपक्रम विभाग
भंवर सिंह भाटीउच्च शिक्षा विभाग (स्वतंत्र प्रभार)
 राजस्व विभाग
 उपनिवेशन विभाग
 कृषि सिंचित क्षेत्रीय विकास एवं जल उपयोगिता विभाग
सुखराम बिश्नोईवन विभाग (स्वतंत्र प्रभार)
 पर्यावरण विभाग (स्वतंत्र प्रभार)
 खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग
 उपभोक्ता मामले विभाग
अशोक चांदनायुवा मामले एवं खेल विभाग (स्वतंत्र प्रभार)
 कौशल नियोजन एवं उद्यमिता विभाग (स्वतंत्र प्रभार)
 परिवहन विभाग
 सैनिक कल्याण विभाग
टीकाराम जूलीश्राम विभाग (स्वतंत्र प्रभार )
 कारखाना एवं बॉयलर्स निरीक्षण विभाग (स्वतंत्र प्रभार )
 सहकारिता विभाग
 इंदिरा गांधी नाहर परियोजना विभाग
भजनलाल जाटवगृह रक्षा एवं नागरिक सुरक्षा विभाग(स्वतंत्र प्रभार)
 मुद्रण एवं लेखन सामग्री विभाग (स्वतंत्र प्रभार)
 कृषि विभाग
 पशुपालन विभाग
 मत्स्य विभाग
राजेंद्र सिंह जाटवआयोजना (जनशक्ति) विभाग (स्वतंत्र प्रभार)
 स्टेट मोटर गैराज विभाग (स्वतंत्र प्रभार)
 भाषा विभाग (स्वतंत्र प्रभार)
 सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग
 आपदा प्रबंधन एवं सहकारिता विभाग
सुभाष गर्गतकनीकी शिक्षा विभाग (स्वतंत्र प्रभार)
 संस्कृत शिक्षा विभाग (स्वतंत्र विभाग)
 चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग
 आयुर्वेद एवं भारतीय चिकित्सा विभाग
 चिकत्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं (ईएसआईसी)
 सूचना एवं जनसंपर्क विभाग

चुनाव परिणाम से लेकर कुछ इस तरह रही राजस्थान में हलचल

  • 11 दिसंबर: चुनाव परिणाम घोषित।
  • 16 दिसंबर: अशोक गहलोत और सचिन पायलट दिल्ली में राहुल गांधी से मिलने पहुंचे। यहां से निर्देश मिलने के बाद 17 दिसंबर को शपथ ग्रहण की। इसी बीच 108 आईएएस के तबादले हो गए। 17 आईपीएस भी बदले गए।
  • 17 दिसंबर: दिल्ली से चेहरा तय होने के बाद सीएम-डिप्टी सीएम ने शपथ ली। 
  • 18 दिसंबर: 40 आईएएस, 8 आरएएस बदले, तीन आईएफएस के तबादले, सीएमओ में अदला-बदली की। 
  • 20 दिसंबर: 17 आईपीएस बदले गए। 
  • 21 दिसंबर: सीएम के आर्थिक सलाहकार एवं सलाहकार नियुक्त किए गए। 
  • 23 दिसंबर: मंत्रियों की सूची फाइनल करने के लिए अशोक गहलोत और सचिन पायलट दिल्ली पहुंचे। वहां के निर्देशन में 24 दिसंबर को 13 कैबिनेट और 10 राज्य मंत्रियों को शपथ ग्रहण कराई गई।
  • 24 दिसंबर: 23 मंत्रियों ने शपथ ली। 
  • 25 दिसंबर: 33 में 30 कलेक्टर बदले। 
गहलोत और पायलट के शपथ लेने के बाद 13 कैबिनेट और 10 राज्य मंत्रियों ने भी 72 घंटे पहले शपथ ले ली थी लेकिन मंत्रियों के विभागों का बंटवारा नहीं हो पाया था। इसकी असली वजह ये थी कि टिकट बंटवारे से लेकर सीएम की नियुक्ति, कैबिनेट चुनने और उनके विभागों के बंटवारे सहित तमाम मसले दिल्ली से ही तय हुए हैं। वहीं, ब्यूरोक्रेसी में बदलाव की तेजी देखें तो पिछले आठ दिन में ही 140 से ज्यादा अफसरों को इधर-उधर किया जा चुका है।

No comments:

Post a Comment