एक साल में भाजपा की संपत्ति में 22 फीसदी की बढ़त, कांग्रेस की 15 फीसदी घटी: रिपोर्ट - Badhata Rajasthan - नई सोच नई रफ़्तार

Breaking

Thursday, 1 August 2019

एक साल में भाजपा की संपत्ति में 22 फीसदी की बढ़त, कांग्रेस की 15 फीसदी घटी: रिपोर्ट

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स की हालिया रिपोर्ट में बताया गया है कि भाजपा की कुल संपत्ति, जो वित्त वर्ष 2016-17 के दौरान 1213.13 करोड़ रुपये थी, वो 2017-18 वित्त वर्ष में बढ़कर 1483.35 करोड़ रुपये हो गई.

BJP congress

भाजपा की कुल संपत्ति, जो वित्त वर्ष 2016-17 के दौरान 1213.13 करोड़ रुपये थी, वो 2017-18 के वित्त वर्ष में 22 प्रतिशत बढ़कर 1483.35 करोड़ रुपये हो गई है. बुधवार को जारी एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई.

इस रिपोर्ट में वित्त वर्ष 2016-17 से 2017-18 के बीच सात राष्ट्रीय दलों (भाजपा, कांग्रेस, एनसीपी, बसपा, भाकपा, माकपा और टीएमसी) द्वारा घोषित संपत्तियों, देनदारियों और पूंजी का विश्लेषण किया गया है.

रिपोर्ट में बताया गया है कि 2016-17 के दौरान सात राष्ट्रीय दलों की कुल औसत संपत्ति 465.83 करोड़ रुपये थी, जो 2017-18 में बढ़कर 493.81 करोड़ रुपये हो गई. इनमें से सबसे ज्यादा 22 फीसदी बढ़ोतरी भाजपा की संपत्ति में हुई है.

साभार: एडीआर

साभार: एडीआर

2016-17 में पार्टी की कुल संपत्ति 1213.13 करोड़ रुपये थी, वो अगले वित्त वर्ष में बढ़कर 1483.35 करोड़ रुपये हो गई. वहीं, देश के सबसे पुराने राष्ट्रीय दल कांग्रेस की संपत्ति में 15.26 फीसदी की गिरावट आई है.

2016-17 में 854 करोड़ संपत्ति वाली कांग्रेस की संपत्ति 2017-18 में घटकर 724 करोड़ रुपए हो गई. कांग्रेस के अलावा एनसीपी की संपत्ति भी इस दौरान कम हुई है. वित्तीय वर्ष 2016-17 में 11.41 करोड़ रुपये की संपत्ति 16.39 प्रतिशत घटकर 9.54 करोड़ रुपये हो गई है.

इसके अलावा पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की संपत्ति में दस फीसदी की बढ़त हुई है. 2016-17 वित्त वर्ष के दौरान पार्टी की कुल संपत्ति 26.25 करोड़ रुपये थी, जो अगले वित्तीय वर्ष में 29.10 करोड़ रुपये हो गई है.

इसके अलावा बसपा की संपत्ति में भी बढ़ोतरी हुई है. 2016-17 में यह 680.63 करोड़ रुपये थी, जो 2017-18 बढ़कर 716.72 करोड़ रुपये हो गई है. माकपा की संपत्ति में भी बढ़त हुई है, 2016-17 के 463.76 करोड़ रुपये से बढ़कर पार्टी की कुल संपत्ति 482.1 करोड़ रुपये हो गई.

इस बीच भाकपा की संपत्ति भी साल 2016-17 के 10.88 करोड़ रुपये के मुकाबले बढ़कर 11.49 करोड़ रुपये हो गई है.

इसके अलावा एडीआर ने इन राष्ट्रीय दलों की देनदारियां (लायबिलिटीज़) भी बताई हैं. इस रिपोर्ट के अनुसार राष्ट्रीय दलों द्वारा घोषित देनदारियां कुल 514.99 करोड़ रुपये थीं, जिसका प्रति दल औसत 73.57 करोड़ रुपये है.

साभार: एडीआर

साभार: एडीआर

वित्त वर्ष 2017-18 में सबसे अधिक देनदारी कांग्रेस ने घोषित की है, जो 324.20 करोड़ रुपये है. इसके बाद भाजपा ने 21.38 करोड़ रुपये और टीएमसी ने 10.65 करोड़ रुपये की देनदारी अपनी वार्षिक ऑडिट रिपोर्ट में दिखाई है.

वित्त वर्ष 2016-17 और 2017-18 के दौरान चार राष्ट्रीय दलों ने अपनी देनदारियों में कमी के बारे में बताया है. इसमें कांग्रेस ने 137.53 करोड़ रुपये, माकपा ने 3.02 करोड़ रुपये, एनसीपी ने 1.34 करोड़ रुपये और टीएमसी ने 55 लाख रुपये की कमी देनदारियों में घोषित की है.

वहीं, भाजपा, भाकपा और बसपा ने वित्त वर्ष 2017-18 के लिए अपने देनदारियों की राशि में वृद्धि घोषित की है.

ADR Capital Details

साभार: एडीआर

इसके अलावा रिपोर्ट में राष्ट्रीय दलों की पूंजी (कैपिटल) के बारे में भी बताया गया है. 2016-17 में राष्ट्रीय दलों की कैपिटल राशि कुल 2745.81 करोड़ रुपये थी, जो 2017-18 में बढ़कर 3082.04 करोड़ रुपये हो गई.

वित्त वर्ष 2017-18 में भाजपा ने सबसे अधिक 1461.97 करोड़ रुपये की पूंजी घोषित की. उसके बाद बसपा ने 714.97 करोड़ रुपये और माकपा ने 479.58 करोड़ रुपये की पूंजी की घोषणा की.

इसी वित्त वर्ष के दौरान सबसे कम पूंजी भाकपा ने- 1.43 करोड़ रुपये और एनसीपी ने 5.86 करोड़ रुपये घोषित की.

The post एक साल में भाजपा की संपत्ति में 22 फीसदी की बढ़त, कांग्रेस की 15 फीसदी घटी: रिपोर्ट appeared first on The Wire - Hindi.

No comments:

Post a Comment