Friday, 8 November 2019

मुझे भगवा रंग में रंगने की बहुत कोशिश की गई, लेकिन मैं फंसने वाला नहीं: रजनीकांत

0 comments

फिल्म अभिनेता रजनीकांत ने कहा, ‘कुछ लोग और मीडिया यह दिखाने की कोशिश कर रहे हैं कि मैं भाजपा का आदमी हूं, जो सच नहीं है. मैं ख़ुद तय करूंगा कि मुझे कौन सी पार्टी में शामिल होना है.’

रजनीकांत. (फोटो: पीटीआई)

रजनीकांत. (फोटो: पीटीआई)

चेन्नईः फिल्म अभिनेता रजनीकांत ने बीते शुक्रवार को कहा कि उन्हें कई बार भगवा रंग में रंगने के कोशिश की गई, लेकिन वह इस जाल में नहीं फंसे. उनका यह बयान ऐसे समय आया है, जब ऐसी चर्चा थी कि वह जल्द ही भाजपा में शामिल होने वाले हैं.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, भाजपा में शामिल होने की अफवाहों पर विराम लगाते हुए रजनीकांत ने कहा कि भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री पॉन राधाकृष्णन से मुलाकात के दौरान उन्हें भाजपा में शामिल होने के लिए आमंत्रित नहीं किया गया.

रजनीकांत ने कहा कि मीडिया ने हमेशा उनका नाम भाजपा से जोड़ा है, जो सही नहीं है.

उन्होंने कहा, ‘मुझे भगवा रंग में रंगने के लिए तमाम प्रयास किए जा रहे हैं, जैसे कि तमिल कवि तिरुवल्लुवर के साथ किया जा रहा है, मगर इसमें न तो तिरुवल्लुवर फंसने वाले हैं और न ही मैं.’

उन्होंने कहा, ‘कुछ लोग और मीडिया यह दिखाने का प्रयास कर रहे हैं कि मैं भाजपा का आदमी हूं, जो सच नहीं है. कोई भी राजनीतिक पार्टी खुश होगी, जब कोई उनसे जुड़ेगा, लेकिन मैं खुद तय करूंगा कि मुझे कौन सी पार्टी में शामिल होना है.’

वह भाजपा की तमिलनाडु इकाई द्वारा हाल ही में ट्वीट की गई एक तस्वीर की ओर इशारा कर रहे थे, जिसमें तमिल कवि तिरुवल्लुवर को उनके सामान्य सफेद शॉल के बजाए भगवा चोला पहने दिखाया गया.

इस तस्वीर पर राज्य में काफी विवाद हुआ था. द्रविड़ पार्टियों ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा था कि भाजपा अपने राजनीतिक एजेंडे के लिए तिरुवल्लुवर का भगवाकरण करने का प्रयास कर रही है.

इस विवाद के बारे में पूछे जाने पर रजनीकांत ने इसे मुद्दे को मूर्खतापूर्ण बताया. उन्होंने कहा, ‘तिरुवल्लुवर एक संत हैं, उनके जैसे लोग जाति और धर्म से परे हैं. वह भगवान में विश्वास करते हैं, वह नास्तिक नहीं हैं.’

बता दें कि रजनीकांत ने 2019 लोकसभा चुनाव से पहले ‘रजनी मक्कल मंदरम’ पार्टी लॉन्च करते हुए आध्यात्मिक राजनीति करने का ऐलान किया था.

रजनीकांत के इस बयान के बाद भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव मुरलीधर राव ने कहा, ‘हमने कभी नहीं कहा कि रजनीकांत भाजपा में शामिल हो गए हैं या वह पार्टी में शामिल होना चाहते हैं. भाजपा को इन अटकलों में कोई रुचि नहीं है. हमारा ध्यान स्थानीय निकाय चुनावों की तैयारी में है.’

रजनीकांत ने अपने घर के बाहर मीडिया को संबोधित करते हुए लोगों से अपील भी की कि अयोध्या विवाद पर जो भी फैसला आए, सभी उसका सम्मान करें और शांति बनाए रखें.

मालूम हो कि अयोध्या मामले पर 17 नवंबर से पहले किसी भी दिन अंतिम फैसला आने की संभावना है, क्योंकि मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगाई 17 नवंबर को ही सेवानिवृत्त होने वाले हैं. इसे लेकर उत्तर प्रदेश और उसके आसपास के राज्यों के अलावा देशभर के प्रमुख शहरों में अलर्ट जारी किया गया है.

The post मुझे भगवा रंग में रंगने की बहुत कोशिश की गई, लेकिन मैं फंसने वाला नहीं: रजनीकांत appeared first on The Wire - Hindi.

No comments:

Post a Comment